जम्मू-श्रीनगर चौथे दिन भी बंद, बर्फबारी से मुसीबत

जम्मू-कश्मीर में घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाला जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग शनिवार को लगातार चौथे दिन बंद है , बर्फबारी से आम जनता को मुसीबत में  दाल दिया है। यातायात विभाग के एक अधिकारी ने बताया"'हम रामबन जिले में बैटरी चश्मा के पास भूस्खलन के मलबों को साफ कर रहे हैं"
मौसम विभाग के निदेशक सोनम लोटस ने बताया कि अगले चार दिनों के दौरान बारिश की आशंका नहीं है।  उन्होंने कहा, 'हमें अगले अगले तीन-चार दिनों में मौसम शुष्क रहने का अनुमान है.'

हालांकि यात्रियों को जम्मू और श्रीनगर में हमारे कंट्रोल रूम से संपर्क किए बगैर यात्रा न करने की सलाह दी गई है।' इस बीच, जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग बंद होने से जम्मू में फंसे घाटी के लोगों ने प्रशासन से वायुसेना की मदद से उन्हें उनके घर तक पहुंचाने का इंतजाम करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि जहां वर्षा है वहां पर ठंड से बचने के लिए आम जनता के लिए अलाव जलाने की व्यवस्था की जाए।  बर्फबारी वाले क्षेत्रों में सड़क को साफ काटने के लिए मशीनों को सुचारू रूप से चलाया जाए।

मौसम विभाग द्वारा प्रतिकूल मौसम की चेतावनी जारी किए जाने के बाद एहतियात रूप में शाम को राजमार्ग पर वाहनों के आवागमन को बंद कर दिया गया था।बर्फबारी से मुसीबत में पड़े लोगो को घाटी जा रहे कई यात्री जम्मू में फंसे हुए हैं। वे होटलों और रेस्तराओं द्वारा अत्यधिक शुल्क वसूलने की शिकायत भी कर रहे हैं। राज्य में भारी बर्फबारी  के बाद जमीन धंसने के कारण यह मार्ग बंद पिछले चार दिनों से बंद पड़ा है।