पाक एजेंसी ISI हुआ बेचैन, मोस्ट वाटेंड दाऊद और छोटा शकील की राहें जुदा


मुम्बाई :खुफिया सूत्रों का कहना कहना है कि मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और लंबे समय से उसके साथी रहे छोटा शकील के बीच फूट पड़ गई है। कहा जा रहा है कि शकील 1980 के दशक में जब दाऊद के साथ मुंबई छोड़ कर भागा, तब से ही वह कराची में उसके साथ रह रहा था, लेकिन अब उसने अपना पता बदल दिया है। वह किसी अज्ञात स्थान पर रह रहा है। कहा जा रहा है की पिछले दिन हुए कहासुनी इस घटना की वजह है। आपको बता दे की यह दावा भारतीय खुफिया एजेंसियों ने किया है।
   
सूत्रों के मने तो कहा जा रहा है गैंग के कारोबार में दाऊद के भाई अनीस इब्राहिम की दखलअंदाजी को लेकर हुई थी। शकील पिछले लगभग तीन दशकों से दाऊद के साथ काम कर रहा था और उसका खास भी था, लेकिन अनीस के बढ़ते दखल ने दोनों के रिश्तों में खटास ला दी। अनीस भी पाकिस्तान में ही रहता है और पिछले कुछ समय में उसने अपना प्रभाव बढ़ाना शुरू कर दिया। बताया जाता है कि दाऊद ने अपने भाई से कहा भी वह काम में दखल न दे, लेकिन अनीस नहीं माना। छोटा शकील इन सबसे नाराज था और इसी के कारण दाऊद से उसका झगड़ा भी हुआ। बताया जा रहा है कि दाऊद के साथ झगड़े के बाद छोटा शकील ने अपने खास लोगों के साथ किसी पूर्वी एशियाई देश में मीटिंग की है।

सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तानी को  डर  है की अगर दोनों अलग हो गए तो भारत के खिलाफ उसकी गतिविधियां कमजोर पड़ सकती हैं। खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (ISI) इस वाकये के बाद से हरकत में आ गई है। वे दाऊद और छोटा शकील के बीच मध्यस्थता की कोशिश कर रहे हैं, यहां उल्लेखनीय है कि ISI दाऊद गैंग की मदद से 1993 में मुंबई में विस्फोट कराने में कामयाब रही थी और शकील इस मामले में प्रमुख आरोपी है। गिरोह के कुछ खास सदस्य ही अब मुंबई में रह गए हैं और वे दाऊद व शकील के बीच अनबन की बातों से चिंतित हैं। अब तक उन्हें दाऊद की ओर से छोटा शकील की निर्देश देता रहा था, लेकिन अब उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि वे किसी बात मानें और किसकी नहीं। उनकी दूसरी चिंता दाऊद और छोटा शकील के बीच दरार से उनके कारोबार पर पड़ने वाले असर को लेकर भी है, जो मुख्य रूप से ड्रग्स तस्करी, हवाला, सुपारी लेकर हत्या और जबरन वसूली से संबंधित हैं। 

सूत्रों के मने तो यह भी कहा जा रहा है की  शकील दाऊद को छोड़ दे यह नहीं होगा. दाऊद के भाई उसे धोखा दे सकते हैं, लेकिन शकील नहीं। वह दाऊद के प्रति बहुत वफादार है और अगर दोनों के बीच किसी बात को लेकर मतभेद है तो उसकी वजह केवल अनीस हो सकता है।