न्याय की कुर्सी पर बैठे पंचों ने तय की रेप की कीमत, 5 लाख रुपये में आरोपी को छोड़ा

मेरठ: यूपी के मेरठ से इंसानियत को शर्मसार करती घटना सामने आई है, बता दे  यूपी के मेरठ में  एक पंचायत ने बलात्कार की कीमत तय कर दी. न्याय की कुर्सी पर बैठे पंचों को चंद कागज के नोटों से हैवानियत का इंसाफ किया है, उन्होंने एक नाबालिक बच्ची के साथ बलात्कार की बोली लगा दी और बलात्कारी को सिर्फ 5 लाख का जुर्माना लगाकर छोड़ दिया. फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

सूत्रो कहना है की जिले के लक्खीपुरा में रहने वाली नाबालिग लड़की के साथ पड़ोस में रहने वाले युवक ने पहले रेप किया और लड़की जब गर्भवती हो गई, तो उसका गर्भपात भी करा दिया, इसकी जानकारी जैसे ही परिवार को लगी तो उन्होंने इसकी शिकायत पंचायत में कर दी. इसके बाद पंचायत बैठी, उसमें दोनों पक्षों के लोग आए, पांचो ने पूरी कही सुनी और उसके बाद भरी पंचायत में नाबालिग की अस्मत की कीमत की बोली लगनी शुरू हो गई. आखिर 5 लाख में नाबालिग की अस्मत का सौदा हुआ. आरोपी युवक के परिवार को पीड़ित नाबालिग के परिजनों को 5 लाख रुपये देने का फरमान भरी पंचायत में सुनाया और मामला रफा दफा कर दिया. पंचायत के इस फैसले से नाखुश परिवार अब थाने में अपनी गुहार लगा रहा है।

पुलिस ने इस मामले में जांच के बाद पीड़िता के परिवार वालो को कार्रवाई करने का भरोसा दिया है, बलात्कार जैसा जघन्य अपराध, जिसकी कड़ी से कड़ी सजा कम लगती हैं, ऐसे में पंचायत के नाम पर खुद को न्याधीश समझने वाली ऐसे लोग की भी अपराध में हिस्सेदारी तय की जानी चाहिए।