अंतरिक्ष में हिंदुस्तान का 'शतक', ISRO ने रचा इतिहास, विभिन्न देशों के 28 सैटेलाइट लॉन्च

नई दिल्ली: अंतरिक्ष की दुनिया में भारत ने इतिहास रच दिया है. आज इसरो का सैटेलाइट भेजने का इतिहास रचते हुए अपने 100वें उपग्रह का अंतरिक्ष में प्रक्षेपण कि शतक पूरा हो गया है, बता दे इसरो ने शुक्रवार सुबह 9.28 पर पीएसएलवी के जरिए एक साथ 31 उपग्रह को लॉन्च किया, भेजे गए कुल 31 उपग्रहों में से तीन भारतीय हैं और 28 छह देशों से है।

आपको बता दें कि इसरो ने अपनी वेबसाइट पर गुरुवार को लिखा, "पीएसएलवी-सी 440 के चौथे चरण के प्रणोदक को भरने का काम चल रहा है." चौथे चरण के पीएसएलवी-सी-40 की ऊंचाई 44.4 मीटर और वजन 320 टन होगा. पीएसएलवी के साथ 1332 किलो वजनी 31 उपग्रह एकीकृत किए गए हैं ताकि उन्हें प्रेक्षपण के बाद पृथ्वी की ऊपरी कक्षा में तैनात किया जा सके, भेजे जा रहे कुल 31 उपग्रहों में से तीन भारतीय हैं और 28 छह देशों से हैं, कनाडा, फिनलैंड, फ्रांस, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन और अमेरिका. सैटेलाइट केंद्र निदेशक एम. अन्नादुरई ने कहा कि "माइक्रोउपग्रह अंतरिक्ष में भारत का 100वां उपग्रह होगा।

पृथ्वी अवलोकन के लिए 710 किलोग्राम का काटरेसेट-2 सीरीज मिशन का प्राथमिक उपग्रह है. इसके साथ सह यात्री उपग्रह भी है जिसमें 100 किलोग्राम का माइक्रो और 10 किलोग्राम का नैनो उपग्रह भी शामिल हैं, कुल 28 अंतरराष्ट्रीय सह-यात्री उपग्रहों में से 19 अमेरिका, पांच दक्षिण कोरिया और एक-एक कनाडा, फ्रांस, ब्रिटेन और फिनलैंड के हैं।