यह है दिल्‍ली के स्‍कूल की मनमानी, समय से फीस नहीं देने पर प्राइमरी के बच्‍चों को बेसमेंट में किया लॉक 

नई दिल्ली: दिल्ली के एक स्कूल से चौका देने वाली घटना सामने आई है. जिसमे दिल्ली के स्कूल की मनमानी का मामला सामने आया है, बता दे राष्‍ट्रीय राजधानी के एक स्‍कूल ने किंडरगार्टन के बच्‍चों को फीस नहीं चुकाने पर बेसमेंट में पांच घंटे से भी अधिक समय तक बंद रखा. स्कूल वालो का यह रवैया बेहद ही अमानवीय है. 

बता दे यह मामला मध्‍य दिल्‍ली में हौज काजी इलाके के राबिया गर्ल्‍स स्‍कूल का है, जहां प्री-प्राइमरी के करीब 16 बच्‍चों को सोमवार को कथित तौर पर बेसमेंट में लॉक कर दिया गया था. यहां बच्‍चे गर्मी से बेहाल हो गए थे. बच्चो के माता-पिता ने शिकायत कि है की स्‍कूल स्‍टाफ ने उनके बच्‍चों को बेसमेंट में इसलिए लॉक किया क्योकि उन्होंने फीस नहीं चुकाया था.  उनका कहना है की जब उन्होंरे इस बात की शिकायत टीचर से की तो उन्‍होंने भी उनके साथ दुव्‍यर्वहार किया और उन्‍हें स्‍कूल परिसर से 'बाहर फेंक देने' की धमकी दी. 

आपको बता दे किंडरगार्टन के बच्‍चे, जिनकी उम्र पांच साल से भी कम होती है उनके साथ ऐसा बर्ताव करना शर्मनाक है. वही इस मामले पर अभिभावकों का कहना है कि वे पहले ही फीस भर चुके हैं. अभिभावकों को अपने बच्‍चों को स्‍कूल के बेसमेंट में लॉक किए जाने का पता तब चला जब वे दोपहर 12.30 बजे अपने बच्‍चों को लेने स्‍कूल पहुंचे थे. उनका कहना है कि बच्‍चों को सुबह 7.30 बजे स्‍कूल पहुंचने के बाद ही बेसमेंट में लॉक कर दिया गया और फिर दोपहर तक करीब पांच घंटे वहां बिठाकर रखा गया.

इसके साथ ही बच्चो के माता-पिता ने इस संबंध में सोमवार एफआईआर दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी है. इस बीच, स्‍कूल प्रशासन ने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि अभिभावक फीस भुगतान की टीचर्स कॉपी मुहैया कराने में नाकाम रहे, जिसकी वजह से यह कदम उठाया गया था. साथ ही स्‍कूल ने यह भी कहा कि बच्‍चों को बेसमेंट में नहीं, बल्कि पढ़ाई के दौरान उनके मनोरंजन के लिए बने कमरे में रखा गया था.