14 नवंबर से भारतीय रेलवे अनूठी ट्रेन 'श्री रामायण एक्सप्रेस 'का होगा परिचालन, बेहद खास होगा यह टूर

नई दिल्ली: हाल ही एक ताजा खबर सामने आई है। साल 2018 के 14 नवंबर से भारतीय रेलवे अनूठी ट्रेन श्री रामायण एक्सप्रेस का परिचालन शुरू करेगी। यह ट्रैन इस लिए खास माना जा रहा है क्यों की, यह ट्रेन हिन्दू महाकाव्य पर आधारित रामायण सर्किट के प्रमुख गंतव्यों तक चलाई जाएगी। मंगलवार को इस एक्सप्रेस की परिचालन को लेकर  रेलवे मंत्रालय ने यह घोषणा की।

आप को बता दे, रेलवे मंत्रालय के हिसाब से,  यह ट्रेन  इंडियन रेल टूरिज्म एंड केटरिंग कॉर्प (आईआरसीटीसी) 800 सीटों का है। भारतीय रेलवे अनूठी ट्रेन श्री रामायण एक्सप्रेस दिल्ली के सफदरगंज रेलवे स्टेशन से चलेगी। यह ट्रेन अपनी यात्रा तमिलनाडु के रामेश्वरम में 16 दिनों में पूरी करेगी।

इस ट्रेन को लेकर बयान में कहा गया है की, 'यह ट्रेन भगवान राम के जीवन से जुड़े सभी महत्वपूर्ण स्थानों की यात्रा 16 दिनों में कराएगी।' इस मामले को लेकर मंत्रालय ने इस बयान को लेकर आगे कहां है की, श्री रामायण यात्रा दो भागों में कराया जाएगा। एक यात्रा भारत से कराया जाएगा और एक और दूसरा श्रीलंका में कराया जाएगा।

आप को बताते चले की, इस यात्रा में भारत के साथ श्रीलंका की यात्रा का भी किया जा सकता है। मगर इस टूर का शुल्क अलग लिया जाएगा । बता दे, इस टूर पैकेज के दौरान आपको भोजन, आवास, साइट सीइंग उपलब्ध कराया जाएगा। आईआरसीटीसी का एक टूर मैनेजर सभी प्रबंध करेगा और वह पर्यटकों के साथ ही यात्रा करेगा।

यह ट्रेन 'दिल्ली के बाद अयोध्या, हनुमान गढ़ी रामकोट और कनक भवन मंदिर जाएगी। इसके साथ नंदीग्राम, सीतामढ़ी, जनकपुर, वाराणसी, प्रयाग, श्रीरंगवीरपुर, नासिक, हंपी और रामेश्वरम की यात्रा कराएगी।'